Income Tax ki limit kya hai  – Income Tax Return (Itr) का नाम आते ही लोगो के मन मे कई तरह सवाल आने लग जाते है, जैसे – Income Tax Return क्या है, मुझे Itr भरने से क्या फायदा होगा या मै अगर Itr फाइल नहीं करू तो मुझे क्या नुकसान होंगे,क्या Itr भरना मेरे लिये जरुरी है, कहीं Itr फाइल कर दिया तो Income Tax विभाग से नोटिस आ जायेगा, अब Date निकल गयी है अब भरा तो पेनल्टी लग जायेगी या मेरी Income कम है, Income Tax ki limit kya hai आदि ।

आज आपको ITR से जुडी कई बातें बताऐंगे जो आपके ITR से Related ज्ञान को बढ़ायेगी और आपको ITR से जुड़े सवालों का Solution मिल पायेगा ।

यह भी पढ़े Types of return

 Benefit of Filing Income Tax Return

  1. Bank से लोन लेने के लिऐ बहुत ही जरुरी Document है,
  2. Visa प्रोसेसिंग के लिये,
  3. आपकी Income के प्रूफ का Important Document है,
  4. अगर आप की Income Taxable नहीं है और आपका Tds काट लिया गया है तो रिफंड क्लेम करने के लिये ,क्योकि इसके बिना आप रिफंड क्लेम नहीं कर पायेंगे,
  5. आपके Losses को Carry Forward करने के लिये,
  6. Government Tender लेने के लिये,
  7. देश के विकास मे सहयोग देने के लिये

 Disadvantages of Non Filing Or Belated Filing of Income Tax Return

  1. अगर आप Due Date के बाद Income Tax Return File करते है ,तो आप अपने Business और Capital Gain के Losses को Carry Forward नहीं कर पायेंगे,
  1. Due Date के बाद ITR फाइल करने पर, आपको Due Date से लेकर ITR फाइल करने की Date तक बकाया टैक्स पर, 1% प्रत्येक महीने या महीने के भाग के लिये Interest का Payment करना पडेगा,
  1. Due Date के बाद आपको Return सेक्शन 143 (1 ) में प्रोसेस किये जाने की तारीख से रिफंड Granted किये जाने की तारीख तक ही रिफंड पर ब्याज प्राप्त होगा ,
  1. अगर आप अगले Year की 31 मार्च के बाद ITR फाइल करते है, तो आप पर 5000 की Penalty लग सकती है । उदाहरण के लिये श्रीमान अशोक 2017-18 की ITR 31-03-2018 तक फाइल नहीं करते तो श्रीमान अशोक पर 5000 की पेनल्टी लग सकती है ।

अब आपको जानकारी हो गयी होगी कि क्यों ITR फाइल करना जरुरी है और इसको फाइल नहीं करने के क्या परिणाम हो सकते है ।

यह भी पढ़े what is income tax return & forms details

For Whom To File Income Tax Return Is Mandatory (Income Tax ki limit kya hai)

  1. प्रत्येक कंपनी के लिए ( Loss होने की स्थिति मे भी )
  2. प्रत्येक फर्म के लिए (LLP और साझेदारी फर्म )
  3. प्रत्येक व्यक्ति के लिए जिसकी इनकम Basic Exemption Limit से ज्यादा हो जाती है ।
करदाता Basic Exemption Limit
व्यक्ति/HUF/AOP/BOI/Artificial Jurisdiction Person अगर Income 250000 से ज्यादा होती है
व्यक्ति ( भारत में निवासी ) जो 60 साल या 60 साल से ज्यादा का हो अगर Income 300000 से ज्यादा होती है
व्यक्ति ( भारत में निवासी ) जो 80 साल या 80 साल से ज्यादा का हो अगर Income 500000 से ज्यादा होती है
  1. व्यक्ति ( भारत में निवासी ) जिसकी भारत के बाहर कोई Assets (किसी उपक्रम मे Financial Interest को शामिल करते हुए ) है या जिसे भारत के बाहर किसी खाते में Signature करने का अधिकार है ।

जिन लोगो को Income Tax Return फाइल करना जरुरी है, उन्हें अपनी Income या Loss की Return Due Date को या उससे पहले जरूर फाइल करनी चाहिये ताकि वो ITR देरी से फाइल करने के परिणाम से बच सके ।

Income Tax ki Limit Kya hai की अधिक जानकारी के लिए आप Income Tax kya Hai Aur Income Tax Ki Rates पढ़ सकते है।

Due Dates For Filing Income Tax Return

करदाता का प्रकार Due Dates/Last Dates
1.  कम्पनी

2.  कम्पनी के अलावा कोई Person जिसके Accounts की Audit होनी है,

3.  फर्म का कोई Working पार्टनर जिसकी Audit होनी है

30th September Of Assessment Year
अन्य करदाता 31st July Of Assessment Year
करदाता (कम्पनी या कम्पनी के अलावा ) जिसे International Transaction (Under Section 92E) की रिपोर्ट Furnish करनी हो 30th November Of Assessment Year

Examples
(1) श्रीमान अशोक की Assessment Year 2017-18 में Income 300000 है तो उन्हें Return फाइल करना आवश्यक है और ITR फाइल करने की Last Date 31 जुलाई 2017 होगी । अगर श्रीमान अशोक 31 जुलाई 2017 तक ITR फाइल नहीं कर पाते है तो वो 31 मार्च 2018 तक अपनी ITR फाइल कर सकते है । उनकी ITR पूरी तरह से वैध होगी , लेकिन 31 जुलाई 2017 के बाद उन्हें बकाया टैक्स राशि पर प्रत्येक महीने और महीने के भाग के लिए 1% प्रत्येक महीने की दर से ब्याज का भुगतान करना पड़ेगा ।

(2) श्रीमान रमेश की Assessment Year 2017-18 में Income 200000 है तो उन्हें Return फाइल करना आवश्यक नहीं है ,लेकिन श्रीमान रमेश ITR फाइल करना चाहते है तो वो 31 मार्च 2018 तक ITR फाइल कर सकते है, उन्हें इसके लिए किसी पेनल्टी का भुगतान नहीं करना पड़ेगा ।

(3) श्रीमान दिनेश की Assessment Year 2017-18 में Income 150000 है तो उन्हें Return फाइल करना आवश्यक नहीं है, लेकिन श्रीमान दिनेश की 150000 की Income पर TDS काट लिया गया है तो उन्हें रिफंड क्लेम करने के लिए ITR फाइल करना आवश्यक है । श्रीमान दिनेश 31-03-2018 तक ITR फाइल करके Refund Claim कर सकते है ।

(4) श्रीमान अतुल (उम्र 70 साल ) की Assessment Year 2017 – 18 में Income 650000 है और उनकी कुल Income से की जाने वाली कटौती 150000 है तो उन्हें भी ITR फाइल करना आवश्यक है, क्योकि उनकी कुल Income Basic Exemption Limit 500000 से ज्यादा है । श्रीमान अतुल को 31-07-2017 तक ITR फाइल करना आवश्यक है।

(5) श्रीमान राजेश की Assessment Year 2017-18 में Salary 200000 है और श्रीमान राजेश को Long Term Listed Shares को बेचने पर ( शेयर्स को बेचते समय Security Transaction Tax Paid किया हो ) 120000 रुपये का लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन हुआ । लिस्टेड शेयर्स ( 12 महीने से अधिक धारित कर रखे हो ) को बेचने पर Income Exempt होती है, लेकिन श्रीमान राजेश की कुल आय (200000+120000) Basic Exemption Limit से ज्यादा है, इसलिए उन्हें Income Tax Return फाइल करना जरुरी है ।

(6) महावीर योग सेंटर (ट्रस्ट ) की Assessment Year 2017-18 में सेक्शन 11 & 12 की Deduction Allow करने से पहले Income 180000 है, तो महावीर योग सेंटर को Income Tax Return फाइल करना जरुरी नहीं है , क्योकि उनकी कुल आय सेक्शन 11 & 12 की Deduction Allow करने से पहले Basic Exemption Limit से कम है ।

(7) श्रीमान राहुल की Assessment Year 2017-18 में Income ₹ 400000 है । श्रीमान राहुल पार्टनरशिप फर्म के Working Partner है जिनके एकाउंट्स की ऑडिट नहीं होनी है, तो इस केस में श्रीमान राहुल की Income Tax Return फाइल करने की Last Date 31 जुलाई होगी ।

यह भी पढ़े  What is Tds And Computation of Tds on Salary

Share This