वर्तमान समय में सभी पर्सन अलग अलग तरह के मेडिकल insurance प्रीमियम लेते है ताकि वे खुद और उनकी फैमिली अपनी HEALTH  पर होने वाले खर्चो से बच सके।  लेकिन, क्या आपको पता है कि इन Premiums की हमें इनकम टैक्स में छूट भी प्राप्त होती है। तो आज के आर्टिकल में हम मेडिकल से सम्बंधित कुछ डिडक्शन के बारे में बात करेंगे,  जिनका बेनिफिट आपको प्राप्त हो सकता है।

इनकम टैक्स एक्ट में आपके द्वारा भुगतान किये गए मेडिकल insurance प्रीमियम और मेडिकल के खर्चो की छूट के बारे में बताया गया है, जिसे अलग – अलग सेक्शन में कवर किया गया है। इन सेक्शन में दी गयी शर्तो को पूरा करके आप इन डिडक्शन को प्राप्त कर सकते है और अपना टैक्स बचा सकते है। इस आर्टिकल में हम सेक्शन 80 D के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे।


यह भी पढ़े जानिये ग्रेच्युटी क्या है और ग्रेच्युटी की टैक्स कैलकुलेशन कैसे की जाती है

Medical  Insurance Premium – Section 80 D

सबसे पहले आपको यह जानना जरुरी है कि सेक्शन 80 D की छूट सेक्शन 80 C की 150000 की लिमिट के अलावा प्राप्त होती है।

मेडिकल insurance प्रीमियम के भुगतान की सेक्शन 80 D में छूट प्राप्त होती है। इस सेक्शन में कोई भी individual अपने या अपनी फैमिली  के लिए भुगतान किये गए मेडिकल insurance प्रीमियम की छूट प्राप्त कर सकता है। सेक्शन 80 D में छूट प्राप्त करने के लिए कुछ शर्ते पूरी होनी जरुरी है,जैसे

शर्ते ( Condition ) :

  1. मेडिकल insurance प्रीमियम की डिडक्शन सिर्फ individual / HUF को ही प्राप्त होगी।
  2. Individual / HUF रेजिडेंट या non Resident हो सकते है।
  3. मेडिकल insurance प्रीमियम का भुगतान cash में नहीं किया गया हो।
  4. लेकिन Preventive हेल्थ checkup का भुगतान किसी भी मोड में किया जा सकता है (cash में भी )।

यदि आप ये शर्ते पूरी करते है तो आप इस सेक्शन में छूट प्राप्त कर सकते है।

यह भी जाने इनकम टैक्स रिटर्न क्या है और इनकम टैक्स रिटर्न के सभी फॉर्म्स की डिटेल ( NEW FORMS)

सेक्शन 80 D में आपकी फैमिली की परिभाषा में आपके जीवनसाथी, आप के ऊपर निर्भर बच्चे , और आपके माता – पिता  को शामिल किया गया है। फैमिली में आपके सास – ससुर और आपके बच्चे जो कि आप पर निर्भर नहीं है को शामिल नहीं किया गया है। यानि कि अगर आप अपने बच्चो जो कि आप पर निर्भर नहीं है के लिए किसी मेडिकल insurance प्रीमियम का भुगतान करते हो तो, इसकी आपको कोई भी डिडक्शन प्राप्त नहीं होगी।

इसके अलावा आप अपने जीवनसाथी या आपके माता – पिता के लिए भुगतान किये गए मेडिकल insurance प्रीमियम की डिडक्शन प्राप्त कर सकते है चाहे वे आप पर निर्भर ( Dependent ) हो या नहीं।

एक Hindu Undivided family ( HUF ) को अपने किसी मेंबर के लिए लिए गए मेडिकल insurance प्रीमियम की छूट प्राप्त होगी, लेकिन उसे अपने मेंबर के लिए Preventive हेल्थ checkup के भुगतान की छूट प्राप्त नहीं होगी।

यह भी जाने क्या एग्रीकल्चरल इनकम पूरी तरह टैक्स फ्री होती है




Maximum Deduction – छूट की राशि

  1. यदि individual द्वारा अपने लिए, जीवनसाथी, निर्भर बच्चो के लिए मेडिकल insurance प्रीमियम का भुगतान किया गया है तो अधिकतम 25000 की डिडक्शन प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा यदि insured पर्सन 60 वर्ष से अधिक है तो अधिकतम 30000 की छूट प्राप्त की जा सकती है।
  2. यदि करदाता द्वारा अपने पेरेंट्स के लिए मेडिकल insurance लिया गया है तो अधिकतम 25000 की छूट प्राप्त होगी और यदि पेरेंट्स सीनियर सिटीजन है तो अधिकतम छूट 30000 की प्राप्त होगी।
  3. इसके अलावा Preventive हेल्थ checkup पर किये गए खर्चो की भी छूट प्राप्त होगी जो कि आपके जीवनसाथी, निर्भर बच्चो और पेरेंट्स ( निर्भर हो या नहीं ) के लिए किये गए हो। इसकी अधिकतम 5000 की छूट प्राप्त होगी। यह 5000 की छूट ऊपर दी गयी छूट में शामिल है।
  4. Preventive हेल्थ checkup की अधिकतम छूट जीवनसाथी, निर्भर बच्चो और पेरेंट्स को मिलाकर होगी न कि सबके लिए अलग -अलग।
  5. सेक्शन 80 D में अधिकतम 60000 की छूट प्राप्त की जा सकती है।

इसको समझने के लिए एक Example  देखते है – आपने अपनी वाइफ के लिए 5000 , आपके ऊपर निर्भर बच्चो के लिए 8000 और अपने परेंट्स ( जो कि 60 वर्ष से ऊपर है ) के लिए 30000 की मेडिकल insurance पॉलिसी का भुगतान किया। इसके अलावा आपने  8000 का हेल्थ checkup करवाया। तो इस केस में आपको मिलने वाली कुल डिडक्शन होगी –

Family Parents
Wife 5000
Children 8000
Parents 30000
Health Checkup 5000
Total Deduction 18000 30000

इस केस में आपको सेक्शन 80 D में कुल 48000 ( 18000 + 30000 )की छूट प्राप्त होगी।

यह भी जाने बेनामी प्रॉपर्टी क्या है ?

पेरेंट्स के 80 वर्ष से अधिक होने पर –

यदि आपके पेरेंट्स सुपर सीनियर सिटीजन है ( यानि कि उनकी उम्र 80 से अधिक है ) और उनके लिए कोई मेडिकल insurance प्रीमियम नहीं लिया गया है तो उनके लिए किये गए मेडिकल खर्चो की आपको छूट प्राप्त होगी, जो कि अधिकतम 30000 तक की हो सकती है।

अगर आपको medical insurance premium section 80 d in hindi income tax kaise bachaye आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करे।

यह भी जाने Lottery, Games &, Horse race में जीत की राशि पर टीडीएस & सेक्शन 194 BB

Shares
Footer Codes in Head and Footer Code