ऐसी इनकम जिन पर भारत में कोई टैक्स नहीं लगता – tax free income in india section 10

ऐसी इनकम जिन पर भारत में कोई टैक्स नहीं लगता – tax free income in india section 10

tax free income in india section 10 – आपने देखा होगा कि आप जो भी इनकम कमाते है उस पर या तो पहले से टीडीएस कटा हुआ होता है या आप खुद उस पर टैक्स का भुगतान करते हो। लेकिन कुछ इनकम ऐसी भी होती है जिन पर आपको बिलकुल भी टैक्स नहीं देना पड़ता और इन्ही incomes को हम tax free income कहते है। (more…)

फॉर्म 26 as क्या है और इनकम टैक्स रिटर्न भरने में यह क्यों जरुरी है ? form 26as in hindi

फॉर्म 26 as क्या है और इनकम टैक्स रिटर्न भरने में यह क्यों जरुरी है ? form 26as in hindi

form 26as in hindi – जब भी हम इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते है तो हमें यही सलाह दी जाती है कि रिटर्न को फाइल करने से पहले अपना फॉर्म 26AS जरूर चेक करे। लेकिन अधिकतर लोग यह लोग समझ नहीं पाते है कि form 26as क्या है और इसे कहा से चेक करे।

इसी वजह से अधिकतर करदाता फॉर्म 26as देखे बिना अपनी रिटर्न फाइल कर देते है, जिससे उनकी रिटर्न में कई बार गलतियां रह जाती है। करदाताओं को अपनी रिटर्न में गलती का पता तब लगता है जब उनकी रिटर्न इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा प्रोसेस की जाती है और उनको सेक्शन 143(1) में इंटिमेशन भेजा जाता है। (more…)

अगर आप करते है ये ट्रांजैक्शन तो आपके पास भी आ सकता है इनकम टैक्स नोटिस – annual information return section 285BA of income tax act

अगर आप करते है ये ट्रांजैक्शन तो आपके पास भी आ सकता है इनकम टैक्स नोटिस – annual information return section 285BA of income tax act

annual information return section 285BA of income tax act – भारत को कैशलेस इकॉनमी बनाने के लिए गवर्नमेंट द्वारा काफी प्रयास किये जा रहे है। और इसी वजह से लोगो द्वारा काफी transaction online किये जाने लगे है।




लेकिन क्या आप जानते है कि जो भी ट्रांजैक्शन आपके द्वारा किये जा रहे है, चाहे वह cash में हो या बैंकिंग चैनल के माध्यम से, इन सभी पर इनकम टैक्स विभाग द्वारा नजर रखी जा रही है। (more…)

audit under gst – जीएसटी में ऑडिट कब की जाती है और कितने टाइप्स की ऑडिट की जा सकती है।

audit under gst – जीएसटी में ऑडिट कब की जाती है और कितने टाइप्स की ऑडिट की जा सकती है।

audit under gst – जीएसटी में रजिस्टर पर्सन को Chartered accountant (CA) या Cost accountant (CMA)  से अपने खातों की ऑडिट करवानी पड़ती है। एक रजिस्टर्ड पर्सन को जीएसटी एक्ट के प्रोविज़न्स के आधार पर GST AUDIT करवानी पड़ती है।

आज के आर्टिकल में हम gst audit के types और ऑडिट करवाना कब जरुरी है के बारे में जानेंगे। (more…)

Taxation of voluntary retirement scheme in hindi – स्वैच्छिक सेवानिवृति पर टैक्स की कैलकुलेशन कैसे की जायेगी ?

Taxation of voluntary retirement scheme in hindi – स्वैच्छिक सेवानिवृति पर टैक्स की कैलकुलेशन कैसे की जायेगी ?

Taxation of voluntary retirement scheme in hindi – voluntary retirement scheme को VRS भी कहा जाता है, जिसका हिंदी में मतलब है स्वैच्छिक सेवानिवृति। यह एक रिटायरमेंट बेनिफिट है जो कि employees को दिया जाता है।

VRS क्या है, ये कब दिया जाता है और क्या वी आर एस पर प्राप्त compensation पर tax लगाया जाता है। इन सभी के बारे में हम आज के आर्टिकल (Taxation of voluntary retirement scheme in hindi) में चर्चा करेंगे। (more…)

Footer Codes in Head and Footer Code