income tax rebate rules under section 87A in hindi– छोटे करदाताओं को इनकम टैक्स से राहत प्रदान करने के लिए सेक्शन 87A में इनकम टैक्स की Rebate (छूट ) दी जाती है, ताकि जो भी करदाता जिनकी इनकम एक निर्धारित राशि से कम है, पर इनकम टैक्स का ज्यादा भार न आये ।

आज के आर्टिकल में हम सेक्शन 87A के  अलग – अलग प्रावधानों के बारे में जानेंगे।



यह भी जाने इनकम टैक्स रिटर्न क्या है और इनकम टैक्स रिटर्न के सभी फॉर्म्स की डिटेल ( NEW FORMS)

सेक्शन 87A क्या है ?

इनकम टैक्स एक्ट 1961 के सेक्शन 87A में एक Individual को दी जाने वाली इनकम टैक्स रिबेट के बारे में बताया गया है।

इस सेक्शन में अधिकतम Rs. 2500 या इनकम टैक्स की राशि, जो भी कम है, की छूट दी जायेगी। (Rs 2500 की Rebate असेसमेंट ईयर 2018-19 से लागू हुई है, इससे पहले रिबेट की राशि Rs. 5000 की थी। )

Exp :- अगर आपकी इनकम टैक्स की लायबिलिटी Rs. 2000 है, तो आपके द्वारा भुगतान किये जाने वाले इनकम टैक्स की कैलकुलेशन निम्न तरीके से की जाएगी –

Income Tax on net income Rs. 2000
Less : Rebate U/s 87A Rs. 2000
Net income tax liabilities Nil

 

यह भी जाने : इनकम टैक्स डिडक्शन जो आपका टैक्स बचा सकती है – income tax deduction other than 80 c in hindi

सेक्शन 87A में Income Tax रिबेट कब दी जाती है ?

सेक्शन 87A में इनकम टैक्स की Rebate प्राप्त करने के लिए 2 Condition पूरी होनी जरुरी है, जो कि है –

  1. करदाता भारत का निवासी व्यक्ति ( Resident Individual ) होना चाहिए। ( आगे, चाहे वह Ordinarily Resident हो या Non ordinarily resident हो ) । भारत के अनिवासी Individual को इस सेक्शन में छूट प्राप्त नहीं होगी। और
  2. उस करदाता की कुल आय Rs. 3.5 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिये।
Gross Total Income ***
Less : Deduction 80C to 80U ***
Net Income ***  ( Rs. 3.5 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिये )

अगर कोई Individual भारत का निवासी है, लेकिन उसकी इनकम Rs. 3.5 लाख से अधिक है, तो उसे इस सेक्शन में कोई Rebate प्राप्त नहीं होगी। रिबेट प्राप्त करने के लिए दोनों शर्ते पूरी होना जरुरी है।

Note :- Rs. 3.5 लाख की Net Income की लिमिट असेसमेंट ईयर 2018 -19 से लागू हुई है, इससे पहले यह लिमिट Rs. 5 लाख थी।




यह भी जाने जीवन बीमा पॉलिसीज पर प्राप्त छूट और टैक्स ट्रीटमेंट – Life insurance policy maturity tax in hindi

Other Rules

  1. सेक्शन 87A की रिबेट HUF/AOP/BOI/फर्म/कम्पनी को प्राप्त नहीं होगी।
  2. Rs 2500 की रिबेट एजुकेशन Cess और सरचार्ज लगाने से पहले दी जायेगी।

Example of section 87A

Mr. X भारत के निवासी है, जिनकी उम्र 42 वर्ष है और उनकी  A. Y. 2018-19 की इनकम है,

केस 1 – Rs. 2,70,000

केस 2 – Rs . 3,40,000

केस 3 – Rs. 5,00,000

Mr. X की टैक्स कैलकुलेशन की जायेगी –

Case -1 (Amount in Rs.) Case-2 (Amount in Rs.) Case-3   (Amount in Rs.)
Net Income 2,70,000 3,40,000 5,00,000
Income tax on net income 1000 4500 12500
Less: Rebate U/s 87A 1000 2500 NIL
Net Tax NIL 2000 12500
Add : Surcharge(on Net Tax) NIL NIL NIL
Total NIL 2000 12,500
Add: Education Cess @3% NIL 60 375
Tax Liability NIL 2060 12,880

 

इंडिविजुअल पर सरचार्ज  Total Income 50 लाख से अधिक होने पर लगाया जायेगा।

अगर आपको आर्टिकल income tax rebate rules under section 87A in hindi अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे।

यह भी जाने इनकम टैक्स क्या है और असेसमेंट ईयर 2018-19 की स्लैब रेट्स

 

 

Shares
Footer Codes in Head and Footer Code